Top 12 High Blood Pressure Causes

Top 12 High Blood Pressure Causes

हाई ब्लड प्रेशर (High Blood Pressure) आज सबसे आम रोगों में से एक है। आजकल हर तीसरा व्यक्ति हाई ब्लड प्रेशर से पीड़ित है। उच्च रक्तचाप को हाइपरटेंशन (hypertension) के रूप में भी जाना जाता है।

आइये सबसे पहले यह जानते हैं की हाई ब्लड प्रेशर होता क्या है ?


हाई ब्लड प्रेशर क्या है ? (What Is High Blood Pressure) :

जब आपका रक्तचाप (blood pressure) अस्वास्थ्यकर स्तर (unhealthy level)  तक पहुँच जाता है तो यह उच्च रक्तचाप या हाई ब्लड प्रेशर का कारण बनता है। हमारा दिल एक तरह की मसल्स है जो शरीर के चारों ओर खून पंप करता है और हमारी पूरी बॉडी में ब्लड भेजता है। हमारा दिल ऑक्सीजन (oxygen) से भरपूर ब्लड हमारी मांसपेशियों (muscles) और सैल्स की आपूर्ति के लिए शरीर के चारों ओर पंप करता है। जोकी ब्लड प्रेशर का मुख्य कारण है। जब आप अपना ब्लड प्रेशर चैक कराते हैं  तो इसमें यह ध्यान दिया जाता है कि आपकी रक्त वाहिकाओं (blood vessels) के माध्यम से कितना खून गुजर रहा है और हृदय (heart) पंप होने पर रक्त की प्रतिरोध मात्रा (blood resistance amount) कितनी है।

नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ (एनआईएच) का अनुमान है कि यू.एस. में 65 वर्ष से अधिक आयु के लगभग दो तिहाई लोगों में उच्च रक्तचाप (high blood pressure) होता है। अगर हाई ब्लड प्रेशर का समय रहते इलाज नहीं किया जाता तो यह कई स्वास्थ्य समस्याओं का कारण बन सकता है। इनमें दिल की विफलता (Heart failure) , द्रष्टि हानि, स्ट्रोक और गुर्दे की बीमारी आदि शामिल हैं।

               

हाई ब्लड प्रेशर के प्रकार :

i) आवश्यक उच्च रक्तचाप (Essential High Blood Pressure):

इसे प्राथमिक उच्च रक्तचाप भी कहा जाता है। इस प्रकार का रक्तचाप (blood pressure) समय के साथ विकसित नहीं होता और  इसका कोई ठोस कारण भी नहीं है।अधिकांश लोगों में इस प्रकार का उच्च रक्तचाप पाया जाता है।

ii) माध्यमिक उच्च रक्तचाप (Secondary High Blood Pressure):

माध्यमिक उच्च रक्तचाप, प्राथमिक उच्च रक्तचाप से अधिक गंभीर हो सकता है। माध्यमिक उच्च रक्तचाप कई कारणों से हो सकता है, जैसे : जन्मजात हृदय दोष (Congenital heart defect), थायराइड प्रॉब्लम, गुर्दे की बीमारी, दवाओं के दुष्प्रभाव, अवैध दवाओं का उपयोग, शराब का ज्यादा सेवन आदि।



हाई ब्लड प्रेशर के कारण (High Blood Pressure Causes) :

हाई ब्लड प्रेशर (high blood pressure) के ये निम्न कारण हो सकते हैं :

1) बढ़ती उम्र (Growing Age) :

उम्र के साथ उच्च रक्तचाप की समस्या अधिक होती है। जितनी आपकी उम्र बढ़ती है, हाई ब्लड प्रेशर रिस्क उतना ही अधिक होता है।

2) मोटापा या अधिक वजन (Obesity or Over Weight) :

सामान्य वजन वाले लोगों की तुलना में अधिक वजन और मोटापे से ग्रस्त लोगों में उच्च रक्तचाप विकसित होने की संभावना भी अधिक होती है। (पढ़ें : पेट वसा खोने के लिए प्रभावी युक्तियाँ)

3) पारिवारिक इतिहास (Family History):

यदि आपके परिवार के किसी करीबी सदस्य को हाई ब्लड प्रेशर है, तो आपको ब्लड प्रेशर होने की सम्भावना और अधिक बढ़ जाती है।

4) ज्यादा मानसिक तनाव (More Mental Stress) :

मानसिक तनाव से आपके रक्तचाप (blood pressure) पर गंभीर प्रभाव पड़ सकता है। जो लोग लम्बे समय से मानसिक तनाव में रहते हैं उनमे उच्च रक्तचाप का खतरा ज्यादा होता है। (पढ़ें : अवसाद और चिंता से बचने के लिए शीर्ष 11 खाद्य पदार्थ)

mental stress

5) मधुमेह (Diabetes or Sugar) :

मधुमेह (diabetes) वाले लोग उच्च रक्तचाप का जोखिम ज्यादा उठाते हैं। टाइप 1 मधुमेह वाले लोगों में, उच्च रक्त शर्करा (high blood sugar) हाई ब्लड प्रेसर के लिए उत्तरदायी है। दूसरी ओर, टाइप 2 मधुमेह वाले लोगों को उच्च रक्त शर्करा के साथ-साथ अन्य कारकों, जैसे कुछ दवाएं (medicines),अधिक वजन, मोटापा और कुछ कार्डियोवैस्कुलर बीमारियों के कारण उच्च रक्तचाप ((high blood pressure) का खतरा होता है। (पढ़ें : मधुमेह के कारण, लक्षण और उपचार)

Diabetes

6) गर्भावस्था (Pregnancy) :

गर्भवती (pregnant) महिलाओं को, उसी उम्र की महिलाओं जो कि गर्भवती नहीं है की तुलना में उच्च रक्तचाप (high blood pressure) का जोखिम अधिक होता है। गर्भावस्था(pregnancy)  के दौरान यह सबसे आम समस्या है।

pregnant

7) शारीरिक वर्क की कमी (Lack of Physical Work) :

अगर आप शारीरिक व्यायाम नहीं करते तो हाई ब्लड प्रेशर रिस्क बढ़ जाता है। इसलिए अगर आप हाई ब्लड प्रेशर रिस्क कम करना चाहते हैं तो नियमित एक्सरसाइज की आदत डालें। पैदल चलना भी अच्छा व्यायाम है।

8) धूम्रपान (Smoking) :

धूम्रपान या स्मोकिंग करने वाले व्यक्ति में, स्मोकिंग न करने वाले व्यक्ति की अपेक्षा ज्यादा हाई ब्लड प्रेशर रिस्क की सम्भावना होती है। स्मोकिंग से हमारे खून में ऑक्सीजन की मात्रा कम हो जाती है। जिससे हृदय (heart) को जल्दी-जल्दी पंप होना पड़ता है और ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है। (पढ़ें : बॉडीबिल्डर के लिए धूम्रपान के स्वास्थ्य प्रभाव)MCDonalds [CPS] IN

9) शराब का सेवन (Alcohol Abuse) :

शोधकर्ताओं के मुताबिक, नियमित रूप से शराब पीने वालों में सिस्टोलिक ब्लड प्रेशर, न पीने वाले लोगों की तुलना में ज्यादा  होता है। (पढ़ें: बीयर के शीर्ष 14 स्वास्थ्य लाभ)

liquor

10) ज्यादा नमक का सेवन (Excess Salt Intake) :

शोध में पाया गया कि जो लोग ज्यादा नमक खाते हैं, उनमें हाई ब्लड प्रेशर की सम्भावना भी उतनी ही बढ़ जाती है। इसके बजाय उन लोगों का रक्तचाप कम होता है जो कम नमक खाते हैं।

11) उच्च वसा फ़ूड का सेवन (High Fat Food Intake) :

वसा में उच्च आहार हाई ब्लड प्रेशर के जोखिम को जन्म देता है। समस्या यह नहीं है कि वसा कितना खाया जाता है, बल्कि यह है किस प्रकार की वसा खायी जाए।

एवोकाडोस, जैतून का तेल और ओमेगा आयल जैसे पौधों से प्राप्त वसा आपके और आपके शरीर के लिए काफी अच्छे हैं। वहीं, जानवरों से प्राप्त होने वाले खाद्य पदार्थों के साथ-साथ ट्रांस फैट आपकी सेहत के लिए ख़राब हैं। (पढ़ें : ओमेगा -3 फैटी एसिड में अमीर शीर्ष 10 खाद्य पदार्थ)



12) लिंग संबंधी कारक (Gender Factors) :

आम तौर पर, वयस्क महिलाओं (adult women) की तुलना में वयस्क पुरुषों (adult men) में उच्च रक्तचाप (high blood pressure) अधिक आम बात है। हालांकि, 60 साल की उम्र के बाद यह पुरुष और महिला दोनों में समान रूप से होता है।

3 thoughts on “Top 12 High Blood Pressure Causes

  1. I truly love your site.. Great colors & theme. Did you
    develop this web site yourself? Please reply back
    as I’m planning to create my own blog and would like
    to know where you got this from or just what the theme is named.
    Cheers!

  2. I really like your blog.. very nice colors & theme. Did you design this website yourself or did you hire someone to do it for you?
    Plz answer back as I’m looking to create my own blog and would like to find out where u
    got this from. thanks

  3. This is really interesting, You are a very skilled blogger.
    I’ve joined your rss feed and look forward to seeking more of your magnificent
    post. Also, I’ve shared your site in my social networks!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *