15 Amazing Health Benefits of Sweet Potatoes

sweet potatoes

शकरकंद (sweet potato) पौष्टिक और स्वादिष्ट जड़ वाली सब्ज़ी है। शकरकंद, जिसे इपामो बटाटा (Ipomoea Batatas) के रूप में भी जाना जाता है, इसमें न केवल कई पोषक तत्व होते हैं, बल्कि यह औषधीय लाभों से भी भरपूर होता है।

नारंगी रंग के कारण शकरकंद स्वाभाविक रूप से विटामिन बी 5, राइबोफ्लेविन, नियासिन, थायमिन और कैरोटीनॉयड से भरे होते हैं।

वैज्ञानिकों ने पाया है कि शकरकंद विटामिन ए के सबसे अच्छे स्रोतों में से एक हैं। [Trusted Source 1]

वैज्ञानिकों ने निर्धारित किया है कि शकरकंद में एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटी-डायबिटिक और एंटीकैंसर गुण होते हैं। [Trusted Source 2]

अधिकांश शकरकंद नारंगी रंग के होते हैं, लेकिन अन्य ऐसे भी हैं जो बैंगनी, पीले, गुलाबी और लाल रंग में आते हैं।

उत्तर प्रदेश और बिहार में शकरकंद (Sweet Potato) की खेती विशेष रूप से की जाती है। स्वीट पोटैटो को उबालकर या आग में पकाकर खाया जाता है।

इसमें अनेक विटामिन होते  हैं, जैसे कि विटामिन ए और सी की मात्रा सर्वाधिक है।

इसमें आलू की अपेक्षा अधिक स्टार्च होता है और फाइबर और पोटेशियम की उच्च मात्रा होती है।

शकरकंद का पोषण (Sweet Potato Nutrition)

28 ग्राम शकरकंद में लगभग होता है : [Trusted Source*]

  • कैलोरी : 25.2
  • कार्बोहाइड्रेट : 5.8 ग्राम
  • कैल्शियम : 10.6 मि.ग्रा.
  • मैग्नीशियम : 7.6 मि.ग्रा.
  • फास्फोरस : 15.1 मि.ग्रा.
  • पोटेशियम : 133 मि.ग्रा.
  • सोडियम : 10.1 मि.ग्रा.

शकरकंद के लाभ (Benefits of Sweet Potato)

शकरकंद लेने के कुछ विशिष्ट लाभ हैं :

1. विटामिन ए की कमी को रोकने में

विशेष रूप से दुनिया भर के विकासशील देशों में विटामिन ए की कमी एक गंभीर मुद्दा है।

विटामिन ए की कमी के स्वास्थ्य संबंधी नतीजे गंभीर होते हैं और इसमें संक्रामक रोगों से प्रतिरोधक क्षमता में कमी, संक्रामक रुग्णता में वृद्धि, सूखी आँखें और गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं और उनके बच्चों के लिए मृत्यु दर में वृद्धि आदि शामिल हैं। [Trusted Source 3]

शकरकंद विटामिन ए का एक अत्यंत महत्वपूर्ण स्रोत है क्योंकि इनमें बीटा-कैरोटीन का उच्च स्तर होता है। [Trusted Source 4] [Trusted Source 5]

बीटा-कैरोटीन हमारे लीवर में विटामिन ए में बदल जाता है। बीटा-कैरोटीन के हर अणु में विटामिन ए के दो अणु पैदा होते हैं। [Trusted Source 6]

2. प्रदर रोग या ल्‍यूकोरिया में (In White Discharge)

शकरकन्‍द (sweet potato) प्रदर रोग (Lukoria) में बहुत लाभकारी है। महिलाओं में प्रदर रोग होने पर शकरकन्‍द को जिमीकन्‍द में बराबर मात्रा में लेकर छाया में सुखाकर और पीसकर बारीक चूर्ण बनाना चाहिए।

इसके 5-6 ग्राम चूर्ण को ताजे पानी और शहद में मिलाकर सेवन करने से काफी लाभ मिलता है।

3. एंटीऑक्सीडेंट में उच्च (High in Antioxidants)

एंटीऑक्सीडेंट बीमारियों से लड़ने में हमारी मदद करते हैं। एंटीऑक्सिडेंट मधुमेह (sugar), हृदय रोग (heart disease) और कैंसर (cancer) से भी हमारी रक्षा करते हैं।

फाइबर और कई महत्वपूर्ण विटामिन (vitamins) और खनिज (minerals) होने के अलावा, इनमें एंटीऑक्सिडेंट्स भी पाये जाते हैं।

ऑरेंज-फ्लैश किए हुए शकरकंद (sweet potato) में बीटा-कैरोटीन पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है, जो कि एक शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट है जो नेत्र द्रष्टि (eye vision) को बढ़ाने, स्वांस सम्बन्धी रोगों में सुधार करने और आपकी त्वचा की रक्षा करने में मदद करता है।

इसमें फाइबर भी मौजूद होता है।

अध्ययनों से पता चला है कि टाइप 1 मधुमेह वाले लोग जो उच्च फाइबर आहार का उपभोग करते हैं, उनमें रक्त ग्लूकोज का स्तर कम होता है, और टाइप 2 मधुमेह वाले लोगों में रक्त शर्करा, लिपिड और इंसुलिन के स्तर में सुधार करता है।

मध्यम साइज के छिलके वाले एक शकरकंद में लगभग 6 ग्राम फाइबर होता है।

4. तनाव के स्तर को कम करने में

शकरकंद में मैग्नीशियम की एक महत्वपूर्ण मात्रा होती है, जो सामान्य शरीर के कामकाज के लिए एक आवश्यक खनिज है। [Trusted Source 7]

मैग्नीशियम के सबसे महत्वपूर्ण लाभों में से एक यह है कि यह तनाव और चिंता को कम करने में मदद करता है। [Trusted Source 8]

अध्ययनों से पता चला है कि आधुनिक आहार में मैग्नीशियम की कमी में वृद्धि हुई है, जिससे दुनिया भर में रिपोर्ट किए गए अवसाद के मामलों में उल्लेखनीय वृद्धि हुई है। [Trusted Source 9] [Trusted Source 10] [Trusted Source 11]

उदाहरण के लिए, कुछ नियंत्रित अध्ययनों से संकेत मिलता है कि मैग्नीशियम की कमी महिलाओं में मासिक धर्म के लक्षणों का अनुभव करा रही है। [Trusted Source 12] [Trusted Source 13]

5. प्रतिरक्षा में वृद्धि (Increase in Immunity Power)

शकरकंद में विटामिन ए पर्याप्त मात्रा में होता है, यह विटामिन स्वास्थ्य के कई पहलुओं में अहम भूमिका निभाता है, लेकिन यह प्रतिरक्षा (immunity) के मामले में विशेष रूप से महत्वपूर्ण है।

विटामिन ए बीमारियों और संक्रमण से लड़ने वाली प्रतिरक्षा कोशिकाओं  (cells) के उत्पादन (production) में मदद करता है।

यह हानिकारक सैल्स को मारने (kill) में भी मदद कर सकता है। कुछ पशुओं पर किये गए अध्ययनों में इसे एंटी-ट्यूमर के रूप में दिखाया गया है।

कई अध्ययनों ने यह भी बताया है कि विटामिन ए कुछ संक्रामक बीमारियों से मृत्यु के जोखिम को कम करने में भी मदद कर सकता है।  

आयरन शरीर में एनर्जी के स्‍तर को बनाए रखने में मदद करता है और शकरकन्‍द में आयरन भरपूर मात्रा में होता है इसलिए यह शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मदद करता है।

इसके अलावा, शकरकन्‍द सफेद और लाल रक्त कोशिकाओं (cells) के उत्पादन में भी सुधार करता है।

6. रक्तचाप (Blood Pressure)

शकरकंद रक्तचाप को नियंत्रित करने में मदद कर सकता है क्योंकि वे मैग्नीशियम और पोटेशियम दोनों में समृद्ध हैं।

अध्ययनों से पता चला है कि पोटेशियम के अधिक सेवन से रक्तचाप में कमी आती है, जो व्यक्ति के स्ट्रोक या कोरोनरी समस्या के विकास की संभावना को काफी कम कर देता है।

उच्च रक्तचाप की रोकथाम में मैग्नीशियम को एक प्रभावी आहार घटक माना जाता है, साथ ही साथ गर्भवती और गैर-गर्भवती रोगियों दोनों में इसकी कमी भी होती है। [Trusted Source 14]

इसके अलावा, अन्य अध्ययनों में पाया गया है कि शरीर में मैग्नीशियम की कमी से उच्च रक्तचाप के विकास के लिए जोखिम कारक बढ़ जाते हैं। [Trusted Source 15]

साथ ही किडनी को भी स्वस्थ रखने में महत्वपूर्ण योगदान देता है।

7. श्वास संबंधी रोगों में (In Breathe Diseases)

एक शकरकन्‍द का नियमित सेवन शरीर के लिए जरूरी विटामिन ए का 90% पूरा करता है।

विटामिन ए फेफड़ों के रोग जैसे वातस्फीति के इलाज के लिए बहुत फायदेमंद होता है।

8. वजन घटाने में (In Weight Loss)

यदि आप अपना वज़न कम (weight loss) करने की कोशिश कर रहे हैं, तो अपनी डाइट में शकरकंद को अवश्य शामिल करें। 

क्योंकि यह पोषक तत्वों और फाइबर से भरपूर है और आपको जल्दी भूख नहीं लगने देता।

शकरकंद में घुलनशील और किण्वनीय फाइबर होते हैं जो तृप्ति को बढ़ाते हैं और शरीर को शरीर के वजन नियमन के लिए एक प्राकृतिक, आत्मनिर्भर तंत्र प्रदान करते हैं।

अध्ययनों से पता चला है कि मीठे आलू, पेक्टिन में प्रमुख घुलनशील आहार फाइबर में से एक, भोजन का सेवन कम करने, वजन बढ़ाने और शरीर में संतृप्त हार्मोन की गतिविधि को बढ़ाने में प्रभावी है।

9. कैंसर में (In Cancer)

अध्ययनों से यह भी पता चला है कि बैंगनी शकरकंद विशेष रूप से कैंसर के खिलाफ लड़ाई में प्रभावी है। [Trusted Source 16]

शकरकंद में ऐसे तत्व होते हैं जो विशिष्ट कैंसर के विकास को रोकने में सक्षम होते हैं, जिसमें स्तन कैंसर, गैस्ट्रिक कैंसर और पेट के कैंसर शामिल हैं। 

माना जाता है कि शकरकंद की उच्च एंथोसाइनिन सामग्री को इसकी एंटी-कैंसर गतिविधि के पीछे का कारण माना जाता है।

 शकरकंद को प्रोस्टेट कैंसर में भी लाभकारी दिखाया गया है। 

वैज्ञानिकों ने निष्कर्ष निकाला है कि जब प्रोस्टेट कैंसर को नियंत्रित करने की बात आती है तो शकरकंद की कैंसर विरोधी गतिविधि उनके उच्च पॉलीफेनॉल सामग्री के कारण होती है।

शकरकंद में बीटा-कैरोटीन जैसे कैरोटीनॉइड की उपस्थिति से प्रोस्टेट कैंसर से पीड़ित पुरुषों को भी  महत्वपूर्ण प्रभाव पड़ता है।

कोलोरेक्टल कैंसर विकसित करने वाले व्यक्तियों के जोखिमों को रोकने और कम करने में बीटा-कैरोटीन भी प्रभावी पाया गया है। [Trusted Source 17] [Trusted Source 18]

10. पाचन में (In Digestion)

शकरकंद में बड़ी मात्रा में फाइबर होते हैं, जो लंबे समय से आंत के स्वास्थ्य में सुधार के साथ-साथ पाचन के लिए भी जाने जाते हैं।

शकरकंद का सेवन उचित पाचन को बढ़ावा देने के लिए आवश्यक फाइबर के आपके सेवन को बढ़ा सकता है।

शकरकंद की उच्च फाइबर सामग्री भी बच्चों और वयस्कों दोनों में कब्ज को रोकने में मदद कर सकती है। [Trusted Source 19]

11. मधुमेह में (In Diabetes or Sugar)

शकरकन्‍द मधुमेह या शुगर (sugar) के रोगियों के लिए एक उत्कृष्ट आहार है क्योंकि उन्हें रक्त शर्करा के स्तर को कम और नियमित करने में मदद मिलती है।

वास्तव में, शकरकन्‍द और मधुमेह के बीच संबंध के बारे में जानने के लिए कई अध्ययन हुए हैं।

शकरकंद को ग्लाइसेमिक इंडेक्स पैमाने पर निम्न से उच्च के रूप में वर्गीकृत किया जाता है, और कई अध्ययनों से संकेत मिलता है कि यह इंसुलिन प्रतिरोध और निम्न रक्त शर्करा के स्तर को कम कर सकता है, साथ ही साथ मधुमेह से पीड़ित लोगों में उच्च रक्त शर्करा के स्तर को भी कम कर सकता है। [Trusted Source 20]

उनके अपेक्षाकृत कम ग्लाइसेमिक इंडेक्स का मतलब है कि शकरकंद अन्य स्टार्चयुक्त खाद्य पदार्थों के विपरीत, धीरे-धीरे रक्तप्रवाह में शुगर छोड़ता है।

शुगर की यह स्थिर स्थिति है जो व्यक्तियों के रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने में सहायक है ताकि यह कम या उच्च न हो।

इस प्रकार, शकरकंद का उपयोग विशेष रूप से मधुमेह वाले लोगों में रक्त शर्करा के स्तर के नियमन में किया जा सकता है। यह विनियमन दोनों प्रकार के मधुमेह में देखा जाता है, यानि टाइप 1 और टाइप 2 डायबिटीज.  

शकरकंद में मौजूद फाइबर को डायबिटीज के लिए फायदेमंद माना जाता है। शकरकंद एक उच्च फाइबर वाला भोजन है, जिसे टाइप 1 मधुमेह से पीड़ित व्यक्तियों के रक्त शर्करा के स्तर को कम करने के लिए दिखाया गया है। [Trusted Source 21]

शकरकंद में 10-15% फाइबर में पेक्टिन जैसे घुलनशील फाइबर होते हैं, जो रक्त शर्करा में भोजन की खपत और स्पाइक्स को कम करने में प्रभावी होते हैं। [Trusted Source 22]

शकरकंद में लगभग 77% फाइबर अघुलनशील होते हैं, और मधुमेह के खिलाफ लड़ाई में उनकी अपनी भूमिका होती है। इंसुलिन संवेदनशीलता को बढ़ावा देने में अघुलनशील फाइबर आवश्यक हैं।

इसके अलावा, शकरकंद मैग्नीशियम का एक महत्वपूर्ण स्रोत है, जो कि टाइप 2  मधुमेह विकसित करने वाले व्यक्तियों के जोखिम को कम करने के लिए भी दिखाया गया है। [Trusted Source 23]

शकरकन्‍द आलू का एक प्रकार है जिसका प्रयोग मधुमेह (Diabetes) विरोधी गुणों के लिए बड़े पैमाने पर किया जाता है।

12. प्रजनन क्षमता में (Sex)

शकरकंद प्रजनन क्षमता को बढ़ा सकता है।

शकरकंद में विटामिन ए की उच्च खुराक, महिलाओं द्वारा उनकी प्रजनन क्षमता को बढ़ाने के लिए इसे आदर्श बनाती है।

पशु मॉडल पर किए गए अध्ययनों से पता चला है कि विटामिन ए प्रजनन प्रदर्शन को बेहतर बनाने में एक अभिन्न भूमिका निभाता है। [Trusted Source 24]

शकरकंद में आयरन की एक स्वस्थ खुराक भी होती है, जो प्रसव उम्र की महिलाओं में प्रजनन क्षमता को बढ़ावा देने में महत्वपूर्ण खनिज है। [Trusted Source 25]

रिपोर्टों से पता चलता है कि एनीमिया, या आयरन की कमी, महिलाओं के बीच बांझपन का कारण है। [Trusted Source 26]

इन रिपोर्टों से पता चला है कि आयरन की आहार की मात्रा में वृद्धि करके आयरन की कमी का इलाज करने से आमतौर पर महिलाओं को उपचार के बाद कुछ महीनों से एक साल तक गर्भ धारण करने में सक्षम होता है।

अन्य अध्ययनों में पाया गया है कि आहार आयरन के सेवन में वृद्धि से ओवुलेटरी इनफर्टिलिटी का खतरा कम हो जाता है। [Trusted Source 27]

13. विटामिन डी से भरपूर (High in Vitamin D)

शकरकंद (sweet potato) विटामिन डी का एक बहुत ही अच्छा सोर्स है. यह विटामिन हड्ड‍ियों, दांतों, त्वचा और नसों की ग्रोथ और मजबूती के लिए आवश्यक होता है।

इसके सेवन से शरीर की 90 प्रतिशत तक विटामिन ए की पूर्ति हो जाती है.

14. सूजन में (Swelling)

शकरकंद में विटामिन की एक महत्वपूर्ण मात्रा होती है, जिनमें से अधिकांश में सूजन को कम करने वाले गुण होते हैं।

इसके अलावा, शकरकंद में कोलीन की उच्च सांद्रता होती है, जो एक बहुत ही बहुमुखी पोषक तत्व है।

Choline के मुख्य लाभों में से एक यह है कि यह शरीर में सूजन को कम करता है।

पशु मॉडल पर किए गए अध्ययनों से पता चला है कि choline शरीर में प्रणालीगत सूजन की चिकित्सीय रूप से निरोधात्मक घटनाओं पर प्रभावी है। [Trusted Source 28]

अन्य अध्ययनों से संकेत मिलता है कि बैंगनी शकरकंद के अर्क में एंथोसायनिन होता है, जो पेट के कैंसर की कोशिकाओं में सूजन को कम करने और विशिष्ट कैंसर कोशिकाओं में सेल प्रसार की कमी को रोकने में आवश्यक साबित हुआ। [Trusted Source 29]

15. आँखों के लिए (For Eyes)

शकरकंद में बहुत सारा विटामिन ए होता है, और हममें से ज्यादातर लोग जानते हैं कि विटामिन ए हमारी दृष्टि के लिए अच्छा है, लेकिन हम शायद यह नहीं जानते हैं कि विटामिन हमारी दृष्टि में किस तरह से सुधार करता है।

अध्ययनों से पता चला है कि विटामिन प्रकाश अवशोषण के लिए जिम्मेदार पिगमेंट के निर्माण में आवश्यक है। [Trusted Source 30]

इसके अलावा, रेटिना की उचित संरचना को बनाए रखने में विटामिन ए भी आवश्यक है। विटामिन ए की कमी से दृष्टि खराब हो सकती है, और कुछ मामलों में अंधापन हो सकता है।

विटामिन में कमी से रतौंधी भी हो सकती है। [Trusted Source 31] [Trusted Source 32]

3 thoughts on “15 Amazing Health Benefits of Sweet Potatoes

  1. My brother suggested I might like this website.
    He was entirely right. This post truly made my day.

    You can not imagine just how much time I had spent for this information!
    Thanks!

  2. I do consider all the ideas you have presented to
    your post. They are really convincing and can definitely work.
    Still, the posts are too brief for beginners. May just you please
    extend them a little from next time? Thanks for the post.

  3. Excellent beat ! I wish to apprentice while
    you amend your web site, how can i subscribe for a weblog site?
    The account aided me a applicable deal. I have been a little bit familiar of this your broadcast offered vivid transparent concept

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...
13 Shares
Share10
Tweet
Pin3
Share
Share